20 साल से मांझी समाज कर रहा निषाद चौराहे और धर्मशाला की मांग, नपाध्यक्ष प्रिंस राठौर ने कहा शीघ्र भूमि के साथ मिलेगा भवन

0
2

सीहोर। गुरुवार को सिद्धपुर मांझी आदिवासी समाज संघ के तत्वाधान में लगातार 20 सालों से निषाद चौराहे के अलावा निषाद धर्मशाला के लिए भूमि भवन की मांग की जा रही है, इसको लेकर संघ के जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश रायकवार ने बड़ी संख्या में समाजजनों के साथ नगर पालिका के अध्यक्ष प्रिंस राठौर से भेंट की। इस मौके पर समाज के अध्यक्ष श्री रायकवार ने कहा कि सभी समाज को उनकी पहचान हेतु नगर में चौराहे का नामाकरण कर उनके पूर्वजों के नाम पर चौराहों का नामकरण किया गया है। सभी समाज के लोग आपके इस कार्य के लिए सरहाना करते है तथा आपसे मांग करते है कि हमारे समाज के वंशज श्री निषादराज महाराज के नाम पर भी एक चौराहे का नाम शहर में हो, इसके अलावा एक अन्य मांग यह है कि मांगी समाज के पास पालिका क्षेत्र में कही भी धर्मशाला नहीं है, करीब सात हजार से अधिक समाज के लोग निवास करते है समाज के धार्मिक कार्यों एवं सामाजिक कार्यों को संपन्न कराने के लिए अनेक समस्याएं समाजजनों को आती है। इसलिए नपाध्यक्ष श्री राठौर से उन्होंने मांग की है कि धर्मशाला के लिए भूमि आवंटित करने के साथ ही धर्मशाला निर्माण कार्य कराए। इन दोनों मांगों को पूरा करने के लिए ज्ञापन सौंपा गया।

इस दौरान नपाध्यक्ष श्री राठौर ने कहा कि आगामी दिनों में शहर में निषाद चौराहे का नामाकरण किया जाएगा। इसके अलावा धर्मशाला के लिए भूमि और निर्माण की प्रक्रिया भी शीघ ही आरंभ की जाएगी। ज्ञापन देने वालों में आकाश रायकवार, अजय रेकवार, विजय, सविता, संगीता, पवन, गोविन्दा, कंछेदीलाल, शुभम, वंश रायकवार, कृष्णा, विशाल, रवि, राजू विनोद, अर्जुन, अनिल, महेश, सन्नी, हेमराज और सूरज मांझी, अरुण रेकवार, मनोहर रेकवार आदि शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here