अस्पतालों में बढऩे लगे सर्दी, खांसी, गले में खराश, सिर में दर्द के मरीज, संक्रमण का असर ज्यादा

0
3

भोपाल (आरएनएस)। मौसम में लगातार हो रहे बदलाव का स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। जिला अस्पताल में वायरल बुखार, सर्दी, खांसी, जुकाम, गले में खराश, सिर में दर्द के के मरीजों की संख्या तक बढ़ गई है। जेपी अस्पताल के एमडी मेडिसीन डा.योगेंद्र श्रीवास्तव का कहना है कि इस तरह के मौसम में लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है। इसमें लापरवाही लोगों की सेहत को बहुत अधिक बिगाड़ सकती है। गौरतलब है कि पिछले 15 दिनों से मौसम में काफी उतार चढ़ाव हो रहा है, कभी वर्षा तो कभी गर्मी और कभी तापमान में गिरावट होने से मौसम ठंडा हो रहा। मौसम में बार-बार हो रहे बदलाव का असर लोगों की सेहत पर प्रतिकूल असर डाल रहा है। जिला अस्पताल में पदस्थ शिशु रोग विशेषज्ञ डा.राकेश टिक्कस का कहना है कि बदलते मौसम के कारण होने वाला यह वायरल फीवर बच्चों और बुजुर्गों को तेजी से अपनी चपेट में ले रहा है। वहीं कामकाज के सिलसिले में अक्सर अपने घरों से बाहर रहने वाले अन्य लोग भी इस वायरल की चपेट में आ रहे हैं। बुखार की चपेट में आने वाले रोगियों को सर्दी, खांसी व गले में तेज दर्द की परेशानी होती है और कमजोरी आ जाती है। इस मौसम में बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए पौष्टिक भोजन खिलाएं और बाजार में बने खाद्य पदार्थों को खाने से परहेज रखना चाहिए। प्राइवेट क्लीनिकों पर भी इलाज के लिए मरीजों की भीड़वायरल फीवर के चलते शहर के प्राइवेट क्लीनिकों पर भी इन दिनों इलाज के लिए मरीजों की भीड़ लग रही है। प्राइवेट प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि वर्तमान में अधिकांश मरीज वायरल फीवर और सर्दी, खांसी के आ रहे हैं। तेज बुखार आने के साथ मरीजों को कमजोरी हो रही है। पहले वायरल फीवर तीन दिन में ठीक हो जाता था। वर्तमान में वायरल फीवर में सात से आठ दिनों तक बुखार आ रहा है। जेपी अस्पताल के एमडी मेडिसीन एवं सिविल सर्जन डा. राकेश श्रीवास्तव कि वर्तमान मौसम को देखते हुए लोग ठंडा पानी न पिएं, शीतल पेय पदार्थों का सेवन करने से परहेज करें। बाजार में बने खाद्य पदार्थों का सेवन न करें। सुबह-शाम शरीर को ज्यादा ढकने वाले कपड़े पहने। घर में बना ताजा और पौष्टिक भोजन का सेवन करें। वायरल संक्रमण होने पर खांसते व छींकते समय मुंह पर रूमाल या मास्क लगाएं। कटे- फटे फलों का सेवन न करें। वहीं अगर किसी व्यक्ति का स्वास्थ्य बिगड़ गया है तो वह डाक्टर की सलाह लेकर दवा का सेवन करे। वायरल बुखर के चलते शरीर में तेज दर्द, गले में खरास और दर्द, त्वचा पर हल्के धब्बे पडऩा, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द, कमजोरी महसूस होना, सिर दर्द होने के साथ तेज बुखार, खांसी की शिकायत सहित अन्य लक्षण वायरल बुखार से जुड़े हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here